शनिवार, 7 दिसंबर 2019

Filled Under:

ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी शायरी इश्क़ मोहब्बत

Top 20+ ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी शायरी

Top 20+ ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी शायरी


ये दिल न जाने क्या कर बैठा
 मुझसे बिना पूछे ही फैसला कर बैठा
 इस ज़मीन पर टूटा सितारा भी नहीं गिरता
 और ये पागल चाँद से मोहब्बत कर बैठा

ye dil na jaane kya kar baitha
mujhase bina poochhe hee phaisala kar baitha
is zameen par toota sitaara bhee nahin girata
 aur ye paagal chaand se mohabbat kar baitha


यादों की किम्मत वो क्या जाने,
 जो ख़ुद यादों के मिटा दिए करते हैं,
 यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
 यादों के सहारे जिया करते हैं…

yaadon kee kimmat vo kya jaane,
jo khud yaadon ke mita die karate hain,
yaadon ka matalab to unase poochho jo,
yaadon ke sahaare jiya karate hain…


प्यार वो हम को बेपनाह कर गये,फिर ज़िनदगीं में हम को,
 तन्नहा कर गये, चाहत थी उनके इश्क में,फ़नाह होने की,
 पर वो लौट कर आने को,भी मना कर गये..

pyaar vo ham ko bepanaah kar gaye,phir zinadageen mein ham ko,
tannaha kar gaye, chaahat thee unake ishk mein,fanaah hone kee,
par vo laut kar aane ko,bhee mana kar gaye..

Latest - ishq mohabbat shayari in hindi

Latest - ishq mohabbat shayari in hindi


 शिकायत है उन्हें कि,
 हमें मोहब्बत करना नही आता,
 शिकवा तो इस दिल को भी है,
 पर इसे शिकायत करना नहीं आता

shikaayat hai unhen ki,
hamen mohabbat karana nahee aata,
shikava to is dil ko bhee hai,
par ise shikaayat karana nahin aata


कुछ तो मजबूरियां रही होंगी यूं कोई बेवफा नही होता, टटोल कर देखो अपने दिल को हर फासला बेवजह नहीं होता….


kuchh to majabooriyaan rahee hongee yoon koee bevapha nahee hota, tatol kar dekho apane dil ko har phaasala bevajah nahin hota….



तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया हमने ,
 तेरे प्यार का हर क़र्ज़ अदा किया हमने ,
 मत सोच के हम भूल गए है तुझे ,
 आज भी खुदा से पहले याद किया है तुझे

teree berukhee ko bhee rutaba diya hamane ,
tere pyaar ka har qarz ada kiya hamane ,
mat soch ke ham bhool gae hai tujhe ,
aaj bhee khuda se pahale yaad kiya hai tujhe

Girlfriend ishq mohabbat shayari in hindi - शायरी

Girlfriend ishq mohabbat shayari in hindi - शायरी


आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा
 कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा
 पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला
 मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा`

aankhon mein raha dil mein utar kar nahin dekha
kashtee ke musaaphir ne samandar nahin dekha
patthar mujhe kahata hai mera chaahane vaala
main mom hoon usane mujhe chhoo kar nahin dekha`

धोखा दिया था जब तूने मुझे. जिंदगी से मैं नाराज था,
 सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं. मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था….

dhokha diya tha jab toone mujhe. jindagee se main naaraaj tha,
socha ki dil se tujhe nikaal doon. magar kambakht dil bhee tere paas tha….


पास आकर सभी दूर चले जाते हैं, हम अकेले थे अकेले ही रह जाते हैं, दिल का दर्द किससे दिखाए, मरहम लगाने वाले ही ज़ख़्म दे जाते हैं.

paas aakar sabhee door chale jaate hain, ham akele the akele hee rah jaate hain, dil ka dard kisase dikhae, maraham lagaane vaale hee zakhm de jaate hain.

ishq mohabbat shayari in hindi - इश्क़ मोहब्बत

ishq mohabbat shayari in hindi - इश्क़ मोहब्बत


सारी उम्र आंखो मे एक सपना याद रहा,
 सदियाँ बीत गयी पर वो लम्हा याद रहा,
 ना जाने क्या बात थी उनमे और हममे,
 सारी मेहफिल भुल गये बस वह चेहरा याद रहा ..

saaree umr aankho me ek sapana yaad raha,
sadiyaan beet gayee par vo lamha yaad raha,
na jaane kya baat thee uname aur hamame,
saaree mehaphil bhul gaye bas vah chehara yaad raha ..


जनाजा मेरा उठ रहा था,
 फिर भी तकलीफ थी उसे आने में!
 बेवफा घर में बैठी पूछ रही थी,
 और कितनी देर है दफनाने में?

janaaja mera uth raha tha,
phir bhee takaleeph thee use aane mein!
bevapha ghar mein baithee poochh rahee thee,
aur kitanee der hai daphanaane mein?


मिलना इतिफाक था बिछरना नसीब था ..
 वो तुना हे दूर चला गया जितना वो करीब था ..
 हम उसको देखने क लिए तरसते रहे …
 जिस शख्स की हथेली पे हमारा नसीब था

milana itiphaak tha bichharana naseeb tha Vo tuna he door chala gaya jitana vo kareeb tha ..
ham usako dekhane ka lie tarasate rahe …
jis shakhs kee hathelee pe hamaara naseeb tha

ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी इश्क़ शायरी

ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी इश्क़ शायरी


दोस्ती उन से करो जो निभाना जानते हो,
 नफ़रत उन से करो जो भूलना जानते हो,
 ग़ुस्सा उन से करो जो मानना जनता हो,
 प्यार उनसे करो जो दिल लुटाना जनता हो..

dostee un se karo jo nibhaana jaanate ho,
nafarat un se karo jo bhoolana jaanate ho,
gussa un se karo jo maanana janata ho,
pyaar unase karo jo dil lutaana janata ho..


रास्ता सुझाई देता है,
 न मंजिल दिखाई देती है,
 न लफ्ज़ जुबां पर आते हैं,
 न धड़कन सुनाई देती है,
 एक अजीब सी कैफियत ने
 आन घेरा है मुझे,
 की हर सूरत में,
 तेरी सूरत दिखाई देती है…



raasta sujhaee deta hai,
na manjil dikhaee detee hai,
na laphz jubaan par aate hain,
na dhadakan sunaee detee hai,
ek ajeeb see kaiphiyat ne
aan ghera hai mujhe,
kee har soorat mein,
teree soorat dikhaee detee hai…
उन्होंने देखा और ​हमारे ​आंसू गि​​र पड़े​;
​ ​​​​भारी बरसात में जैसे फूल बिखर पड़े​;
​ दुःख यह नहीं कि उन्होंने हमें अलविदा कहा​;
​ दुःख तो ये है कि उसके बाद वो खुद रो पड़े​।

unhonne dekha aur ​hamaare ​aansoo gi​​ra pade​;
​​​​bhaaree barasaat mein jaise phool bikhar pade​;
duhkh yah nahin ki unhonne hamen alavida kaha​;
duhkh to ye hai ki usake baad vo khud ro pade​.

हिंदी - ishq mohabbat shayari in hindi - मोहब्बत शायरी

हिंदी - ishq mohabbat shayari in hindi - मोहब्बत शायरी


लोग कहते है दिल पत्थर है मेरा;
 इसलिए इसे पिघलना नही आता!
 अब क्या कहूँ क्या आता है, क्या नही आता;
 बस मुझे मौसम की तरह, बदलना नही आता!

log kahate hai dil patthar hai mera;
isalie ise pighalana nahee aata!
ab kya kahoon kya aata hai, kya nahee aata;
bas mujhe mausam kee tarah, badalana nahee aata!


तुम्हें अपना कहने की तमन्ना थी दिल में,
 मगर लबों तक आते आते तुम ग़ैर हो गए...



tumhen apana kahane kee tamanna thee dil mein,
magar labon tak aate aate tum gair ho gae...

जाते वक़्त उसने बड़े गुरूर से कहा था,
 तुझ जैसे लखो मिलेंगे,
 मैने मुश्कुराके के पूछा,
 मुझ जैसे की तलाश ही क्यू

jaate vaqt usane bade guroor se kaha tha,
tujh jaise lakho milenge,
maine mushkuraake ke poochha,
mujh jaise kee talaash hee kyoo



2020 - ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी नई शायरी

2020 - ishq mohabbat shayari in hindi - हिंदी नई शायरी


जा रहा हूँ तेरा शहर छोडकर लेकिन इतना जरुर कहूँगा
 तुम ही थे इस दिल में तुम ही धड्कोगे मेरी इन धडकनों में...!!

ja raha hoon tera shahar chhodakar lekin itana jarur kahoonga
tum hee the is dil mein tum hee dhadkoge meree in dhadakanon mein...!!

गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया!
इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जब सितारों से पनाह ली!
नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!

gam ne hasane na diya, zamaane ne rone na diya!
is ulajhan ne chain se jeene na diya!
thak ke jab sitaaron se panaah lee!
neend aaee to teree yaad ne sone na diya!


ishq mohabbat shayari in hindi - इश्क़ मोहबत शायरी

Also more..

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें