मंगलवार, 3 दिसंबर 2019

Filled Under:

ishq shayari in hindi – Best of romantic – इश्क हिंदी शायरी

Best Top 10 ishq shayari in hindi – इश्क हिंदी शायरी
ishq shayari in hindi
ishq shayari in hindi

Best of romantic ishq shayari – हिंदी इश्क शायरी

जाने कहाँ थे और और चले थे कहाँ से हम;
बेदार हो गए किसी ख्वाब-ए-गिराँ से हम;
ऐ नौ-बहार-ए-नाज़ तेरी निकहतों की खैर;
दामन झटक के निकले तेरे गुलसिताँ से हम।

jaane kahaan the aur aur chale the kahaan se ham;
bedaar ho gae kisee khvaab-e-giraan se ham;
ai nau-bahaar-e-naaz teree nikahaton kee khair;
daaman jhatak ke nikale tere gulasitaan se ham.

ishq shayari in hindi font

आँखों में आंसुओं की लकीर बन गई;
जैसी चाहिए थी वैसी तकदीर बन गई;
हमने तो सिर्फ रेत में उंगलियाँ घुमाई थी;
गौर से देखा तो आपकी तस्वीर बन गई।

aankhon mein aansuon kee lakeer ban gaee;
jaisee chaahie thee vaisee takadeer ban gaee;
hamane to sirph ret mein ungaliyaan ghumaee thee;
gaur se dekha to aapakee tasveer ban gaee.

दुख मे खुशी की वजह बनती है मोहब्बत;
दर्द मे यादों की वजह बनती है मोहब्बत;
जब कुछ भी अच्छा नहीं लगता दुनिया में;
तब जीने की वजह बनती है मोहब्बत।

dukh me khushee kee vajah banatee hai mohabbat;
dard me yaadon kee vajah banatee hai mohabbat;
jab kuchh bhee achchha nahin lagata duniya mein;
tab jeene kee vajah banatee hai mohabbat.

उनके दीदार के लिए दिल तड़पता है;
उनके इंतज़ार में दिल तरसता है;
क्या कहें इस कमबख्त दिल को अब;
अपना होकर भी जो किसी और के लिए धड़कता है।

unake deedaar ke lie dil tadapata hai;
unake intazaar mein dil tarasata hai;
kya kahen is kamabakht dil ko ab;
apana hokar bhee jo kisee aur ke lie dhadakata hai.

आपसे दूर भला हम कैसे रह पाते;
दिल से आपको कैसे भुला पाते;
काश कि आप इस दिल के अलावा आईने में भी रहते;
देखते जब आइना खुद को देखने को तो वहाँ भी आप ही नज़र आते।

mohabbat ishq shayari

aapase door bhala ham kaise rah paate;
dil se aapako kaise bhula paate;
kaash ki aap is dil ke alaava aaeene mein bhee rahate;
dekhate jab aaina khud ko dekhane ko to vahaan bhee aap hee nazar aate.

इत्तेफ़ाक़ से ही सही मगर मुलाकात हो गयी;
ढूंढ रहे थे हम जिन्हें आखिर उन से बात हो गयी;
देखते ही उन को जाने कहाँ खो गए हम;
बस यूँ समझो दोस्तो वहीं से हमारे प्यार की शुरुआत हो गयी।

ittefaaq se hee sahee magar mulaakaat ho gayee;
dhoondh rahe the ham jinhen aakhir un se baat ho gayee;
dekhate hee un ko jaane kahaan kho gae ham;
bas yoon samajho dosto vaheen se hamaare pyaar kee shuruaat ho gayee.

sufi ishq shayari in hindi

लफ़्ज़ों में कैसे तारीफ करूँ,
लफ़्ज़ों में आप कैसे समा पाओगे;
जब भी पूछेंगे कभी लोग आपके बारे में,
हमारी आँखों में देख कर वो सब जान जायेंगे।

lafzon mein kaise taareeph karoon,
lafzon mein aap kaise sama paoge;
jab bhee poochhenge kabhee log aapake baare mein,
hamaaree aankhon mein dekh kar vo sab jaan jaayenge.

दो दिलो की मोहब्बत से जलते हैं लोग;
तरह-तरह की बातें तो करते हैं लोग;
जब चाँद और सूरज का होता है खुलकर मिलन;
तो उसे भी “सूर्य ग्रहण” तक कहते हैं लोग!

ishq shayari urdu

do dilo kee mohabbat se jalate hain log;
tarah-tarah kee baaten to karate hain log;
jab chaand aur sooraj ka hota hai khulakar milan;
to use bhee “soory grahan” tak kahate hain log!

सब कुछ है मेरे पास पर दिल की दवा नहीं;
दूर वो मुझसे हैं पर मैं खफा नहीं;
मालूम है अब भी वो प्यार करते हैं मुझसे;
वो थोड़ा सा जिद्दी है, मगर बेवफा नहीं!

sab kuchh hai mere paas par dil kee dava nahin;
door vo mujhase hain par main khapha nahin;
maaloom hai ab bhee vo pyaar karate hain mujhase;
vo thoda sa jiddee hai, magar bevapha nahin!

ishq shayari in english

उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था;
कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था;
बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम;
प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

usake chehare par is qadar noor tha;
ki usakee yaad mein rona bhee manzoor tha;
bevapha bhee nahin kah sakate usako zaalim;
pyaar to hamane kiya hai vo to beqasoor tha

also more

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें